गुरुवार, 31 दिसंबर 2009

आने दो खुशियों से भरे नए साल को

सभी दोस्तों ,आदरणीयों को नववर्ष की हार्दिक शुभकामनायें
मित्रों,
जीवन आशाओं ,उमंगों और नवीनताओं से भरा हुआ एक रहस्य है जिसे केवल और केवल जीकर ही जाना जा सकता है .प्रतिदिन नया दिन होता है जिसमें बीते हुए कल से अलग कुछ होता है, इसलिए आप सभी को नववर्ष की इस नयी सुबह साल भर के हर दिन के लिए शुभकामनाएं कि आप सभी स्वस्थ रहें ,खुश रहें ,खुशियाँ बांटें और देखें की आपकी खुशियाँ चौगुनी होकर आपको मिलेंगी इन्ही शुभ कामनाओं के साथ नए साल के स्वागत में कुछ पंक्तियाँ -----


मन से निकल दो सब मैल को, मलाल को
आने दो खुशियों से भरे नए साल को

बीती सो बात गई ,
अंधियारी रात गई .
नव प्रभात आया है ,
लेकर सौगात नई

फैलने दो मन आँगन, प्यार के गुलाल को
आने दो खुशियों से भरे नए साल को

लेकर संकल्प नए ,
तलाशें विकल्प नए
दिन बीते ,युग बीते ,
फिर आये कल्प नये

क्या होगा ?कब होगा ?छोडो इस सवाल को
आने दो खुशियों से भरे नए साल को

खुशियाँ दें, गम ले लें
सुख- दुःख मिलकर झेलें
जीवन के खेल को ,
हँस -हँस कर हम खेलें

साथ आयें ,सुलझाएं जीवन जंजाल को
आने दो खुशियों से भरे नए साल को

सीमा

9 टिप्‍पणियां:

  1. सीमा जी ,

    नमस्कार..

    आपकी सार्थक कविता ने सच्चे अर्थो में नए वर्ष का स्वागत किया है ....

    मुझे आपकी कविताये हमेशा ही अच्छी लगती रही है और मन को छूती रही है ..

    इस बार भी आपकी कविता ने एक ताजगी सी भर दी है मन में...

    मुझे आपकी ये पंक्तियाँ बहुत अच्छी लगी .....

    क्या होगा ?कब होगा ?छोडो इस सवाल को ।
    आने दो खुशियों से भरे नए साल को ।

    मेरी ईश्वर से ये दिल से प्रार्थना है की वो आपको तथा आपके परिवार को भरपूर खुशिया दे...

    आभार और नमस्कार

    विजय

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपको नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाये.
    सुख आये जन के जीवन मे यत्न विधायक हो
    सब के हित मे बन्धु! वर्ष यह मंगलदयक हो.

    (अजीत जोगी की कविता के अंश)

    उत्तर देंहटाएं
  3. बहुत बढिया कहा .. आपके और आपके पूरे परिवार के लिए भी नववर्ष मंगलमय हो !!

    उत्तर देंहटाएं
  4. बीती सो बात गई ,
    अंधियारी रात गई .
    नव प्रभात आया है ,
    लेकर सौगात नई ।

    नव वर्ष की मंगल कामनाएँ!

    उत्तर देंहटाएं
  5. बहुर बढ़िया रचना प्रेषित की है।बधाई।

    आपको सपरिवार नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  6. बेहद खूबसूरत !
    नव वर्ष मंगलमय हो !

    उत्तर देंहटाएं
  7. बढिया कविता ।
    नववर्ष की हार्दिक शुभकामनाएं।

    उत्तर देंहटाएं
  8. इस अच्छी रचना के लिए
    आभार .................

    उत्तर देंहटाएं
  9. खुशियाँ दें, गम ले लें ।
    सुख- दुःख मिलकर झेलें ।
    जीवन के खेल को ,
    हँस -हँस कर हम खेलें ।
    साथ आयें, सुलझाएं जीवन जंजाल को ।
    आने दो खुशियों से भरे नए साल को ।
    सहज और सरल शब्दों में नए साल का शानदार स्वागत - प्रशंसनीय प्रस्तुति - आपको भी नव वर्ष २०१० मंगलमय हो.

    उत्तर देंहटाएं